Radha krishna shayari In Hindi || Motivational Vichar

Advertisement

Radha krishna shayari In Hindi:- इस आर्टिकल में हम आपके लिए Radha krishna के कुछ शुभ विचार लाए हैं जिनको पढ़कर आपको मोटिवेशन मिलेगा और आपके एजुकेशन भी बढ़ेगी. इसी प्रकार के लिए शुरू करते हैं:-

Radha krishna shayari In Hindi

जीवन में समय चाहे जैसा भी हो अपनों का साथ जरूरी होता है सुख हो तो बढ़ जाता है और दुख हो तो घट जाता है अपनों के साथ समय कब बीत जाता है पता नहीं चलता परंतु सोचो अगर आपको ऐसी जगह छोड़ दिया जाए जहां आपको कोई जानता ना हो कोई आपका रिश्तेदार या मित्र ना हो आपके लिए एक मिनट भी बताना असंभव होगा और यह असंभव आपको तब तक लगेगा जब तक आप किसी को अपना ना बना ले अब सवाल यह उठता है कि अपना कौन है वह भाई जो आपके घर में रहते हैं वह कर्मचारी जिसके साथ आप काम करते हैं जहां वह रिश्तेदार जिनसे आप शादियों में मिलते हैं अब इसका उत्तर यह है कि अपना वह है जो मुसीबत के समय काम आए

Advertisement

मनुष्य का यह स्वभाव होता है कि वह अपने आप से प्रसन्न नहीं रहता जो उसके पास है उस पर वह अधिक पाना चाहता है और जो उसके पास नहीं है उसे और बढ़ाना चाहता है वह अपने जीवन में बदलाव लाना चाहता है इस तरह मनुष्य अपने जीवन में रह पाना चाहता है जो उसके पास नहीं है जिसकी वजह से जो उसके पास है उसका भी आनंद नहीं ले पाता अब प्रश्न यह उठता है कि वह इस का आनंद कैसे लें मनुष्य खुद ही अपना आईना है उसे अपने पर भरोसा करना चाहिए अगर मनुष्य को अपने पर भरोसा है तो वह कुछ भी पा सकता है

अगर आपने जीवन में वह पाना है जिससे आप बुलंदियों को छू सके तो आपको तीन बातों का हमेशा समरण रखना होगा पहली यह की अपने लक्ष्य को पाने की इच्छा यह आपसे वह करवा सकता है जो आप कभी भी नहीं कर सकते दूसरा है साहस जो आपसे वह करवा सकता है जो आप करना चाहते हैं तीसरा है अनुभव यह आपको यह बताएगा कि आपको करना क्या है जिसने भी इन तीनों गुणों को पा लिया इस संसार में कुछ भी ऐसा नहीं है जिसको वह ना प्राप्त कर सके

Advertisement

इच्छा निर्णय और निश्चय यह तीनों शब्द हमने अपने जीवन में बहुत बार सुने हैं जीवन में कितनी ही बार बहुत कुछ पाने की इच्छा होती है लेकिन सिर्फ इच्छा करने से क्या कुछ बदलता है बंजर भूमि पर रहने वाले मनुष्य की इच्छा होती है कि उसे मीठा जल मिल जाए क्या सिर्फ इच्छा करने से उसे यह प्राप्त हो सकता है नहीं, बल्कि जिसने कुआं खोदने का निर्णय ले लिया उसे पानी मिलना आवश्यक है चाहे उसे यह देर से मिलेगा लेकिन मिल जाएगा यह सब कुछ उसके नीचे पर निर्भर करता है इसीलिए केवल इच्छा ना करें उस इच्छा को पूर्ण करने के लिए निर्णय भी ले

अगर हम किसी से पूछे कि वह किस से ज्यादा जुड़े हैं तो उनका उत्तर होगा कि माता-पिता जा बहन भाई जा रिश्तेदार मित्र लेकिन हम अगर किसी से सबसे ज्यादा जुड़े हैं तो वह है समय, समय ही हमारा वर्तमान भूतकाल और भविष्य है लेकिन हम क्या करते हैं जो यह समय हमारे लिए बहुमूल्य है हम उसे व्यर्थ में गवा रहे हैं हम इसे यह सोचने में गवा रहे हैं कि हमारे बीते कल में क्या हुआ था और हमें आने वाले समय में क्या करना है लेकिन हम यह नहीं सोचते कि जो बीत गया है हम उसे सोचने से बदल नहीं सकते और इसी तरह अगर भविष्य के बारे में आप सोचते हैं ो आप अपना वर्तमान नष्ट कर रहे हैं तो ज्ञात रखिए कि आपका भविष्य भी बीते हुए कल के समान ही होगा उसमें कुछ भी बदलाव नहीं होगा इसीलिए हमेशा आज के बारे में सोचिए ना भविष्य के बारे में और ना ही भूतकाल के बारे में सोचो अगर आपका वर्तमान अच्छा है तो आपका भविष्य और भूतकाल भी इसी के भांति ही जाएगा

Advertisement
Advertisement

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x